Aa Zara

Murder 2 (2011)

Movie: Murder 2
Year: 2011
Director: Mohit Suri
Music: Sangeet-Siddharth
Lyrics: Mithoon
Singers: Sunidhi Chauhan

 

ये रात रुक जाए
बात थम जाए
तेरी बाहों में
ख्वाहिशें जगी है प्यासे प्यासे लबों पे
खुद को जला दूँ, तेरी आंहों में
आगोश में आज मेरे समां जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से
आजा ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से जी ले

ये जहाँ सारा भूल कर
जिस्मो के साये तले
धीमी धीमी सासें चले रात भर
पल दो पल हम है हमसफ़र
है अभी दोनों यहाँ
होंगे सुबह जाने कहाँ क्या खबर
आजा ज़रा खुदको मुझमें मिला जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से
आजा ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से जी ले

ख्वाब हूँ मैं तो मखमली
पलकों में ले जा मुझे
मैंने दिया मौका तुझे अजनबी
होश में आये ना अभी
एक दूजे में ही कहीं खोयी रहे तेरी मेरी ज़िन्दगी
खामोशियाँ धड़कनों की सूना जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से
आजा, जो पल मिले नसीब से जी ले
रात रुक जाए तेरी बाहों में
आगोश में आज मेरे समां जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से
आ आ ज़रा करीब से, जो पल मिले नसीब से जी ले

Other songs from Murder 2 (2011)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Bollywood Ke Bol (बॉलीवुड के बोल)
%d bloggers like this: