Rehmat Zara

Lamhaa (2010)

Movie: Lamhaa
Year: 2010
Director: Rahul Dholakia
Music: Mithoon
Lyrics: Sayeed Quadri, Amitabh Varma
Singers: Mithoon, Mohammad Irfan Ali

 

इक पल मिला कभी खुशनुमा
इक पल मिला कभी ग़मज़दा
इक पल रहीं कभी खैरीयत
इक पल हुआ कभी हादसा
मौसम कुछ अनजाने ऐसे मिले यहाँ
दिल को जो दे गए खामोशियाँ
मौसम कुछ पेहचाने दे गए सरगोशियां
यूँ ही रातें ढ़लती हैं
यूँ ही होती सुबह
रेहमत ज़रा कर दे खुदा
रेहमत ज़रा हम पर तू कर दे खुदा

इक पल मिला कभी खुशनुमा
इक पल मिला कभी ग़मज़दा
इक पल रहीं कभी खैरीयत
इक पल हुआ कभी हादसा

उम्रे कटती रेहती हैं
धूप कभी बारिश में
ग़म की रुत भी आती हैं
खुशियों की ख्वाहिश में
अक्सर लम्हे कटते हैं
चाहत या रंजिश में
हर दम कलियाँ खिलती हैं
काँटों की बंदिश में
इक पल कभी सुकून है
इक पल कभी है बेकली
इक पल कभी जूनून है
इक पल कभी है बेबसी

ये ही अज़ल से होता रहा है
यूँ ही जीया हर इक इसा
रेहमत ज़रा कर दे खुदा
रेहमत ज़रा हम पर तू कर दे खुदा

मौसम कुछ अनजाने
ऐसे मिले यहाँ
दिल को जो दे गए खामोशियाँ
मौसम कुछ पेहचाने
दे गए सरगोशियां
यूँ ही रातें ढ़लती हैं
यूँ ही होती सुबह
रेहमत ज़रा कर दे खुदा
रेहमत ज़रा हम पर तू कर दे खुदा

ik pal mila kabhee khushanuma
ik pal mila kabhee gamazada
ik pal raheen kabhee khaireeyat
ik pal hua kabhee haadasa
mausam kuchh anajaane aise mile yahaan
dil ko jo de gae khaamoshiyaan
mausam kuchh pehachaane de gae saragoshiyaan
yoon hee raaten dhalatee hain
yoon hee hotee subah
rehamat zara kar de khuda
rehamat zara ham par too kar de khuda

ik pal mila kabhee khushanuma
ik pal mila kabhee gamazada
ik pal raheen kabhee khaireeyat
ik pal hua kabhee haadasa

umre katatee rehatee hain
dhoop kabhee baarish mein
gam kee rut bhee aatee hain
khushiyon kee khvaahish mein
aksar lamhe katate hain
chaahat ya ranjish mein
har dam kaliyaan khilatee hain
kaanton kee bandish mein
ik pal kabhee sukoon hai
ik pal kabhee hai bekalee
ik pal kabhee joonoon hai
ik pal kabhee hai bebasee

ye hee azal se hota raha hai
yoon hee jeeya har ik isa
rehamat zara kar de khuda
rehamat zara ham par too kar de khuda

mausam kuchh anajaane
aise mile yahaan
dil ko jo de gae khaamoshiyaan
mausam kuchh pehachaane
de gae saragoshiyaan
yoon hee raaten dhalatee hain
yoon hee hotee subah
rehamat zara kar de khuda
rehamat zara ham par too kar de khuda

Other songs from Lamhaa (2010)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
%d bloggers like this: