Khwaabon Ke Parindey

Zindagi Na Milegi Dobara (2011)

Movie: Zindagi Na Milegi Dobara
Year: 2011
Director: Zoya Akhtar
Music: Shankar-Ehsaan-Loy
Lyrics: Javed Akhtar
Singers: Alyssa Mendonsa, Mohit Chauhan

उड़े, खुले आसमान में ख्वाबों के परिंदे
उड़े, दिल के जहां मैं ख़्वाबों के परिंदे
ओहो, क्या पता, जायेंगे कहाँ
खुले हैं जो पल, कहे ये नज़र
लगता है अब है जागे हम
फिक्रें जो थी, पीछे रेह गयी
निकले उनसे आगे हम
हवा में बेह रही है ज़िन्दगी
ये हम से केह रही है ज़िन्दगी
ओहो, अब तो, जो भी हो सो हो

उड़े, खुले आसमान में ख्वाबों के परिंदे
उड़े, दिल के जहां मैं ख़्वाबों के परिंदे
ओहो, क्या पता, जायेंगे कहाँ
किसी ने छुआ तो ये हुआ
फिरते हैं मेहेके मेहेके हम
खोयी हैं कहीं बातें नयी
जब हैं ऐसे बेहके हम
हुआ है यूँ के दिल पिघल गए
बस एक पल में हम बदल गए
ओहो, अब तो, जो भी हो सो हो

रौशनी मिली
अब राह में है इक दिलकशी सी बरसी
हर खुसी मिली
अब ज़िन्दगी पे है ज़िन्दगी सी बरसी
अब जीना हमने सीखा है

याद है कल, आया था वो पल जिसमे जादू ऐसा था
हम हो गए जैसे नए वो पल जाने कैसा था
कहे ये दिल के जा उधर ही तू जहाँ भी लेके जाए आरज़ू
ओहो, अब तो जो भी हो सो हो
जो भी हो सो हो
उड़े, जो भी हो सो हो
उड़े, जो भी हो सो हो

Other songs from Zindagi Na Milegi Dobara (2011)


One thought on “Khwaabon Ke Parindey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bollywood Ke Bol (बॉलीवुड के बोल)