Buddhu Sa Mann

Kapoor & Sons (2016)

Movie: Kapoor & Sons
Year: 2016
Director: Shakun Batra
Music: Amaal Malik
Lyrics: Abhiruchi Chand
Singers: Armaan Malik

दबी दबी सी हंसी होंठों पे फँसी है
गुदगुदी कर रही हवा
ऊ.. हल्ला मचा रही है पागल सी ख्वाइशें
खुशियों की मिली है वजह

कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है
कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है

करने दे ख़्वाबों को बदमाशियां
चलने दे नज़रों की मनमानियां
ढूंढें चलो कुछ ठिकाने नए
होने दे पगली-पगली सी नादानियां

होश में रेहना है क्यूँ
रेहने से होगा क्या
बेहोशियों में है मज़ा
ऊ.. बचकानी हरकतें जो होती हैं होने दे
खुशियों की मिली है वजह

कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है
कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है

मौसम ने भी की है कुछ कोशिशें
होने लगी देखो ये बारिशें
सर पे चढ़ा है ये कैसा असर
दौड़े रफ़्तार में दिल की सब धड़कनें

धुन कोई चल रही है, कानो में धीमे से
रोशन है ज़्यादा ये सुबह
ऊ.. हलचल जो हो रही है सीने में होने दे
खुशियों की मिली है वजह

कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है
कुछ है जूनून सा
कुछ पागलपन है
सौ बातें करता ये बुद्धू सा मन है

Other songs from Kapoor & Sons (2016)


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bollywood Ke Bol (बॉलीवुड के बोल)